Free Seed Yojana

Free Seed Yojana New launch 2022: किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी ! सरकार फ्री में दे रही है सरसों और रागी के बीज, जल्दी करें आवेदन.

किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी ! सरकार फ्री में दे रही है सरसों और रागी के बीज

Free Seed Yojana New launch: किसानों की आय ,किसानों का वेतन बढ़ाने के लिए लोक प्राधिकरण की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए किसानों के लिए कई मूल्यवान योजनाओं को लोक प्राधिकरण द्वारा नियंत्रित किया जा रहा है।

इन योजनाओं के तहत पशुपालकों को रोपाई से लेकर कलेक्शन तक के काम में मदद दी जाती है। किसानों को उचित दरों पर ग्रामीण उपकरण, प्रायोजन, उर्वरक और बीज प्रदान किए जाते हैं। साथ ही पीएम किसान सम्मान निधि के तहत लगातार 6 हजार रुपये की मदद दी जाती है. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार बीज पुरस्कार की साजिश पर लगाम लगा रही है। राज्य सरकार ने इस योजना के तहत किसानों को मुफ्त में बनाए गए उपयुक्त सरसों और रागी बीजों का चयन किया है।

बताया जा रहा है कि इससे पशुपालकों को 10 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर का लाभ मिलेगा। अगर ज्यादा परेशानी नहीं होती है तो बता दें कि प्रदेश में बारिश की विसंगति के चलते पशुपालकों के पास समय पर फसल बोने का विकल्प नहीं है। ऐसे में कम पानी में तैयार होने वाले सरसों और रागी के बीजों को राज्य सरकार द्वारा पशुपालकों को वितरित किया जाएगा ताकि किसान इनकी रोपाई करउनका लाभ उठा सकें।

इसके लिए सार्वजनिक प्राधिकरण ने किसानों को मुफ्त बीज वितरित करने का विकल्प चुना है।बताया जा रहा है कि इससे पशुपालकों को प्रति हेक्टेयर 10 हजार रुपये का लाभ मिलेगा। ज्यादा परेशानी न हो तो बता दें कि प्रदेश में बारिश की विसंगति के कारण पशुपालकों के पास समय पर फसल बोने का विकल्प नहीं है. ऐसे में कम पानी में तैयार होने वाली सरसों और रागी के बीज को राज्य सरकार द्वारा पशुपालकों को वितरित किया जाएगा ताकि किसान उन्हें रोपकर लाभ उठा सकें। इसके लिए सार्वजनिक प्राधिकरण ने किसानों को मुफ्त बीज बांटने का विकल्प चुना है।Free Seed Yojana New launch 2022

READ MORE  Kolkata Metro Rail Corporation Limited (KMRCL) Bharti : कोलकाता मेट्रो रेलवे भर्ती 2022 ,How to Apply-Very useful
Free Seed Yojana
Free Seed Yojana

मुफ्त बीज पुरस्कार पर खर्च होंगे 867 लाख रुपये-Free Seed Yojana New launch

इस साल राज्य में छिटपुट बारिश से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। इसकी भरपाई के लिए यूपी सरकार ने बीज प्रसार की साजिश का समर्थन किया है. इसके तहत किसानों को बीज पर प्रायोजन का लाभ दिया जाएगा। योजनान्तर्गत किसानों को कम समय में सरसों व ठेठ सरसों व रागी के छोटे पैक के बीज निःशुल्क उपलब्ध कराने हेतु योजनान्तर्गत 867 लाख रुपये का प्रावधान किया जाना चाहिए। अनुसमर्थन किया गया है।

इन पशुपालकों को नि:शुल्क बीज वितरित किए जाएंगे:-

 Government will distribute mustard and ragi seeds

बीज पुष्टि योजना के तहत मुख्य पुजारी को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चरवाहों को मौलिक वर्गीकरण के बीज के फैलाव/मुक्त प्रसार आदि के लिए अनुमोदित किया गया है। यह योजना वित्तीय वर्ष 2022-23 में एक अनोखे कार्यक्रम के तहत शुरू की गई है। इसके तहत सामान्य सरसों व रागी के अस्थाई सरसों व सुनिश्चित बीज के लिए विनियोग दिया जाएगा। सामान्य से कम लंबाई वाली सरसों और सामान्य सरसों से छोटे मुक्त बीज और रागी की सामान्य इकाइयों को लोकेल में बिखेर दिया जाएगा।

 इसमें नियोजित पोजीशन के 25 प्रतिशत तक बीज बिखेर कर कबीले के पशुपालकों को बुक किया जाएगा। इसके अलावा अन्य स्टैंडों के पशुपालकों को अतिरिक्त बीज का 75 प्रतिशत प्रायोजन पर उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही, योजना के तहत चयनित पशुपालकों में से 30% महिला पशुचारकों के समर्थन की गारंटी दी जाएगी। इस कार्यालय का लाभ पशुपालकों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर दिया जाएगा। Free Seed Yojana New launch 2022

READ MORE  Bihar Polytechnic Exam Admit Card 2022 Download Link, How To Download @bceceboard.bihar.gov.in Exam Date

किसानों को प्रत्येक हेक्टेयर के लिए 10 हजार रुपये का लाभ मिलेगा-Free Seed Yojana New launch

बीज पुरस्कार योजना के तहत किसानों को सरसों और रागी के गारंटीशुदा बीज मुफ्त उपलब्ध कराए जाएंगे। यह इन फसलों की उपज का निर्माण करेगा, क्योंकि सामान्य रूप से पशुपालकों को लाभ पहुंचाने के लिए अधिकांश को सामान्य माना जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार के अनुसार इस योजना से लगभग 1,80,000 मीट्रिक लॉट रागी उत्पादन प्राप्त होगा, जिससे प्राप्तकर्ता किसानों को सामान्य रूप से 10 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर का लाभ मिलेगा।

यूपी सरकार की बीज पुरस्कार योजना क्या है-Free Seed Yojana New launch

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की सेवा के लिए बीज पुरस्कार की साजिश शुरू की गई है। इसके तहत पुष्ट बीजों को खेत में बिखेर दिया जाता है। योजना के तहत किसानों को अलग-अलग उपज के बीज पर बंदोबस्ती का लाभ दिया जाता है। इस योजना के तहत किसानों को बीज के अधिग्रहण पर 50 प्रतिशत विनियोग दिया जाता है।

वैसे भी इस बार तूफानी मूसलाधार बारिश का सामना कर रहे किसानों को सरसों और रागी के बीज पर शत-प्रतिशत निवेश दिया जा रहा है। इसके लिए सुनियोजित योजना तैयार की जा रही है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए पशुपालक को पहले नामांकित किया जाना जरूरी है, नामांकन के बाद ही उसे पुरस्कार राशि दी जाती है। पुरस्कार का कितना प्राप्तकर्ता रैंचर्स के बहीखाता को हस्तांतरित किया जाता है।

सीड अवार्ड प्लॉट में आवेदन का सबसे प्रभावी तरीका-Free Seed Yojana New launch

अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपके लिए इसके लिए आवेदन करना बेहद जरूरी है। योजना में नामांकन का क्रम इस प्रकार है- सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको उत्तर प्रदेश बागवानी विभाग की प्राधिकरण साइट upagriculture.com पर जाना होगा। यहां लैंडिंग पेज पर आपको दिए गए विकल्प के चयन पर टैप करना होगा।Free Seed Yojana New launch 2022

उसके बाद आपके सामने एक और पेज खुलेगा। इस नए पेज पर आपको दिए गए कनेक्शन 2 के विकल्प पर बागवानी विभाग / स्नैप की योजनाओं में जाकर ऑनलाइन नामांकन करना होगा। इसके बाद आपके सामने योजना का नामांकन प्रकार खुल जाएगा। वर्तमान में आपको संरचना पर पूछे गए सभी डेटा को भरने और अपेक्षित अभिलेखागार को स्थानांतरित करने की आवश्यकता है। सारी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर टैप करना है। इस प्रकार बीज पुरस्कार योजना में नामांकन की प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी।

READ MORE  Cowin Vaccine Certificate Correction 2022: By Mobile No, Aadhar

बीज पुरस्कार योजना में सूचीकरण के लिए अपेक्षित अभिलेखागार-Free Seed Yojana New launch

इस योजना में नामांकन के लिए आपको इसके लिए आवेदन करना होगा। आवेदन के लिए आपको जिन अभिलेखों की आवश्यकता होगी, वे इस प्रकार हैं- आवेदन करने वाले रैंचर का आधार कार्ड उम्मीदवार रैंचर का निवास प्रमाणीकरण वित्तीय शेष विवरण के लिए डुप्लीकेट बैंक पासबुक, खसरा खतौनी के आधार से जुड़े बहुआयामी नंबर की डुप्लिकेट वाली रैंचर का फील्ड पेपर। रैंचर का वीजा साइज फोटो

प्रभाजन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र आदि सहित रैंचर के पते का सत्यापन। कार्य वाहन चौराहा आम तौर पर आपको तरोताजा रखता है। इसके लिए कार्य वाहनों के नए मॉडल और उनके बागवानी उद्देश्यों के बारे में कृषि व्यवसाय समाचार वितरित किए जाते हैं। प्रमुख ट्रेन हम इसी तरह काम वाहन संगठनों प्रीत फार्म वाहन, इंडो होमस्टेड फार्म वाहन इत्यादि की महीने-दर-माह सौदों की रिपोर्ट वितरित करते हैं, जो कि खेत के मालिकों के छूट और खुदरा सौदों पर बिंदु-दर-बिंदु डेटा देते हैं। 

अगर आप महीने दर महीने सब्सक्रिप्शन लेना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें। यदि आप नए फार्म ट्रक, इस्तेमाल किए गए काम के वाहनों, बागवानी हार्डवेयर का व्यापार करने के इच्छुक हैं और मानते हैं कि खरीदारों और विक्रेताओं की बढ़ती संख्या आपके पास पहुंचनी चाहिए और आपकी चीज़ के लिए सबसे बड़ा प्रोत्साहन प्राप्त करना चाहिए, तो ट्रैक्टर जंक्शन के साथ अपना सौदा साझा करें।

Important Links (महत्वपूर्ण लिंक्स)

Home Page Click Here
Join TelegramClick Here
Direct Link of Online Application
Click Here
Official Website
Click Here